Breaking News

देहरादून में इंडिया ड्रोन फेस्टिवल-2019 का शुभारम्भ, पद्मश्री बसंती देवी बिष्ट ने जागर गायन से दिया अपनी जड़ों की ओर लौटने का रैबार, संतुलन के साथ सबका विकास, रैबार से विकास का आगाज, एकजुट-एकमुठ होकर आगे बढ़े युवा उत्तराखंड, सामूहिक चिंतन से ही निकलेगी विकास की राह, पर्यटन व संस्कृति बन सकते हैं विकास की धुरी, उत्तराखंड ही बने भावी पीढ़ी का भाग्यनिर्माता, हिमालयन डेवलपमेंट का नया मॉडल लाया जाए, निर्धारित आय न होने से बढ़ा पलायन, शिक्षा से पलायन रोकने का अभिनव प्रयास।

रंग लाया रैबार: उत्तराखंड में कोस्ट गार्ड भर्ती सेंटर खोलने को केंद्र सरकार की मंजूरी

Jun 25, 2019

वाई एस बिष्ट, देहरादून

हिल-मेल का रैबार रंग लाया है। उत्तराखंड में कोस्ट गार्ड का भर्ती सेंटर खोला जाएगा। सैन्य सेवाओं में जाने की इच्छा रखने वाले देवभूमि के युवाओं के लिए यह एक बड़ा केंद्र होगा। साल 2017 में हिल-मेल की ओर से देहरादून में रैबार सेमिनार का आयोजन किया गया था। इसी सेमिनार के दौरान कोस्ट गार्ड के महानिदेशक राजेंद्र सिंह ने उत्तराखंड के युवाओं को इस बल में अवसर देने के उद्देश्य से राज्य में भर्ती सेंटर खोलने की बात कही थी।

यह भारत का पांचवां कोस्ट गार्ड भर्ती सेंटर होगा। 28 जून 2019 को दोपहर 11 बजे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत इस भर्ती सेंटर के लिए भूमि का शिलान्यास करेंगे। यह भर्ती सेंटर कुंआवाला (हर्रावाला) देहरादून में बनाया जाएगा। डीजी कोस्टगार्ड राजेंद्र सिंह ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुलाकात कर उत्तराखंड में कोस्ट गार्ड भर्ती केंद्र खोलने के लिए भारत सरकार का अनुमति पत्र सौंप दिया।

इस अवसर पर सीएम रावत ने कहा कि उत्तराखंड में कोस्ट गार्ड भर्ती सेंटर खुलने से उत्तराखंड के युवाओं कोस्ट गार्ड में रोजगार के अच्छे अवसर मिलेंगे। उत्तराखंड आपदा की दृष्टि से संवेदनशील राज्य है। कोस्टगार्ड एसडीआरएफ को आपदा से राहत व बचाव के तरीकों के लिए प्रशिक्षण भी देगा।

युवाओं को भी कोस्ट गार्ड द्वारा आपदा से राहत व बचाव कार्य का प्रशिक्षण दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड सैन्य प्रदेश है। सेना के विभिन्न अंगों मे उत्तराखंड के जवान है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड को पांचवें सैन्य धाम के रूप में विकसित करने का संकल्प लिया है। यह उत्तराखंड को सौभाग्य है कि देश का पांचवा कोस्ट गार्ड भर्ती केंद्र राज्य में बन रहा है।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि रैबार कार्यक्रम में डीजी कोस्ट गार्ड राजेंद्र सिंह ने उत्तराखंड में कोस्ट गार्ड भर्ती केंद्र खोलने का प्रस्ताव दिया था। उसी का परिणाम है कि भारत सरकार से इसे स्वीकृति भी मिल चुकी है। उन्होंने डीजी कोस्टगार्ड के इन प्रयासों की सराहना करते हुए उनका आभार जताया।

डीजी कोस्टगार्ड राजेंद्र सिंह ने कहा कि देहरादून में कोस्ट गार्ड भर्ती सेंटर के लिए भारत सरकार से स्वीकृति मिल चुकी है। इसके लिए 17 करोड़ रूपये भूमि के लिए व 25 करोड़ रूपये भवन निर्माण के लिए स्वीकृति मिली है। इस भर्ती केंद्र का पूरा खर्च भारत सरकार वहन करेगी। नोएडा, मुंबई, चेन्नई व कोलकाता के बाद यह उत्तराखंड में 5वां कोस्ट गार्ड भर्ती केंद्र होगा।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तराखंड को सैन्य धाम के रूप में 5वां सैन्य धाम विकसित करने की बात कही है। यह कोस्ट गार्ड भर्ती केंद्र उत्तराखंड के जवानों को समर्पित होगा। इस भर्ती केंद्र का लाभ उत्तराखंड के साथ ही उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश व हरियाणा के युवाओं को भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि लगभग डेढ़ साल में यह भर्ती केंद्र बनकर तैयार हो जाएगा।

राजेंद्र सिंह खुद उत्तराखंड के हैं। वह कोस्ट गार्ड के मुखिया बनने वाले इस बल के पहले अधिकारी हैं। इससे पहले, कोस्ट गार्ड के महानिदेशक के पद पर नौसेना के अधिकारियों की नियुक्ति होती रही है। इससे पहले वह उत्तराखंड में कोस्ट गार्ड की भर्ती रैली का आयोजन भी करा चुके हैं।

Copyright @ 2018 Raibaar | All Rights Reserves