Breaking News

टिहरी झील पर रैबार 2 में हुआ विचारों का मंथन। आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने किया संबोधित। देश और विदेश से आई हस्तियों ने उत्तराखंड के विकास के लिए रखे सुझाव।

टिहरी में रैबार 2: मुख्यमंत्री ने उत्तराखंडियों को दिलाई शपथ

Nov 3, 2019

खूबसूरत टिहरी झील पर रविवार, 3 नवंबर को रैबार 2 का आयोजन हुआ। कार्यक्रम में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत समेत पहाड़ की कई हस्तियों ने शिरकत की। कार्यक्रम के औपचारिक उद्घाटन के बाद उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपना भाषण दिया। उन्होंने सबसे पहले रैबार के आयोजन की परिकल्पना के लिए मंजीत नेगी का शुक्रिया अदा किया। इसके बाद टिहरी के बहादुरों को याद किया। रैबार के संकल्प को सामने रखते हुए उन्होंने कहा कि अपने लोगों को पहाड़ की तरफ फिर से बुलाने का यह महाअभियान है। 

उन्होंने प्रदेश की विकास की कहानी को सामने रखते हुए स्थानीय चीजों को प्रमोट करने की बात की। उन्होंने प्रवासी उत्तराखंडियों को बताया कि 23 लाख मीट्रिक टन चीड़ की पत्तियों में एक लाख लोगों को रोजगार देने की क्षमता है। रैबार 1 के बाद हम 10 पॉलिसी लाए हैं। एक साल में 18 हजार करोड़ का निवेश ग्राउंड पर हुआ है, जिससे 50 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। सीएम रावत ने कहा कि हम अपने खेतों में बिजली आराम से पैदा कर सकते हैं। हम सोलर ऊर्जा को बढ़ावा दे रहे हैं। हम संतुलित विकास पर गंभीरता से प्रयास कर रहे हैं। 

ग्रामीण विकास एवं पलायन आयोग के बारे में बताते हुए सीएम ने कहा कि हम हर गांव की जानकारी जुटाएं हैं। अब इस डेटा के हिसाब से हम सही दिशा में विकास को आगे बढ़ा रहे हैं। सीएम ने कहा कि हम निवेश को दूरस्थ क्षेत्रों में ले जाना चाहते हैं। उन्होंने बताया, 'मैं पिछले महीने मुंबई गया था। वहां पता चला कि फिल्म निर्देशक बेहतरीन लोकेशन के लिए रोमानिया और स्विट्जरलैंड जाते हैं, मैंने उनसे कहा कि आइए हमारे राज्य में अपने देश में ही रोमानिया मिलेगा। आज भी उत्तराखंड में 3 फिल्मों की शूटिंग चल रही है। हिंदी से लेकर मलयाली तक फिल्में यहां शूट की जा रही हैं।'

उन्होंने कोस्ट गार्ड का भर्ती केंद्र खुलने समेत कई विकास योजनाओं और केंद्र सरकार से वित्तीय मदद के लिए रैबार का आभार जताया। प्रवासी उत्तराखंड के लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हम आपके सपनों का प्रदेश बना रहे हैं। चीड़ की पत्तियों से 23 प्रोजेक्ट शुरू हो रहे हैं, जिससे रोजगार बढ़ेगा, उपयोगिता बढ़ेगी और पर्यावरण को भी नुकसान नहीं होगा। 

सीएम ने प्रवासी लोगों से आह्वान किया कि आप त्योहार या दूसरे पर्वों पर अपने घर जरूर आइए। इससे आपके घर की सफाई तो होगी ही, आप अपने मूल से जुड़े रहेंगे। सीएम रावत ने बताया कि उन्होंने जो जैकेट पहन रखी है, वह बिच्छू घास से बनी है। उनके जूते और दूसरे कपड़े भी स्थानीय चीजों से बने हैं। 

आखिर में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने लोगों को शपथ दिलाई। लोगों ने शपथ ली, 'हम देवभूमि के बेटे-बेटियां आज जब रैबार के मंच पर यहां टिहरी झील के किनारे एकत्रित हुए हैं, यह शपथ लेते हैं कि हम उत्तराखंड की विकास यात्रा के सहभागी बनेंगे... हम सब उत्तराखंड के लिए अपने-अपने अनुभव साझा करेंगे। हम विशेष रूप से प्रवासी युवाओं को उत्तराखंड की समृद्ध संस्कृति से जुड़ने की कोशिश करेंगे...।' इसके बाद रैबार पर एक बुकलेट का विमोचन किया गया। 

Copyright @ 2018 Raibaar | All Rights Reserves